चीनी ऐप के बैन के बाद नए स्टार्टअप्स को जुलाई में मिली अच्छी फंडिंग.

 

स्टार्टअप्स कंपनियों के लिए जुलाई का महीना काफी अच्छा रहा। इस माह में स्टार्टअप कंपनियों को लगातार फंडिंग जुटाने में मदद मिली है। लगभग 60 से ज्यादा स्टार्टअप्स कंपनियों ने अच्छा खासा फंड जुटाया है। ज्यादातर फंडिंग उन स्टार्टअप्स को मिली जो बहुत जल्दी अपना कारोबार शुरू किए थे।

जुलाई में शीर्ष स्टार्टअप जिन्होंने अच्छी-खासी रकम जुटाई हैं-

कंपनी का नामकितना फंड मिला (USD)जोलो56,000,000एमपावर्ड21,000,000जेट वर्क20,754,700बुलबुल8,700,000हेवो8,000,000फ्लिंटो क्लास7,200,000मैजिक पिन7,000,000ब्लू स्मार्ट5,000,000इंट्री3,055,500ट्रिबो होटल्स3,000,000म्यूस वीयरेबल2,944,580वेगराॅव2,500,000पिगीराइड.इन1,880,630गे डच1,700,000बिग बैंग बूम सॉल्यूशन1,475,920केन42 1,459,730ब्लू स्काई एनालिटिकल1,205,310सिकरदन1,200,000युमलेन1,000,000बीआरबी​​​​​​​974,709गिग इंडिया974,709चिंगारी939,169प्लम932,774गिग फोर्स805,002चिटमोंक्स​​​​​​​650,000फायर स्कोर​​​​​​​500,000ओपन ऐप500,000

गोबलि​​​​​​​

500,000रिव्यू रिवार्ड्ज ​​​​​​​267,875मित्रों265,406वेलक्योर ​​​​​​​200,000पार्कस्मार्ट​​​​​​​199,723पिकराइट ​​​​​​​175,000हेल्प नाउ125,000WYN स्टूडियो66,9681 एमजी26,547

जोलो425 करोड़ रुपए के करीब सी राउंड फंडिंग जुटाई

बंगलुरू की को लिविंग ब्रांड कंपनी जोलो स्टे महीने में फंड जुटाने में टॉप पर रही है। 7 जुलाई को जोलो स्टे ने सिरीज फंड के तहत 425 करोड़ रुपए के करीब सी राउंड फंडिंग जुटाई थी। यह फंड उसने इनवेस्ट कॉर्प के नेतृत्व में नेक्सस वेंचर्स पार्टनर्स, मिरै असेट आदि से जुटाई। कंपनी ने इसके साथ ही कुल मिलाकर 9 करोड़ डॉलर की राशि जुटाई थी।

चीनी ऐप्स पर पाबंदी का भी मिला फायदा

आईआईटी मद्रास की स्मार्ट वाच कंपनी म्यूज वियरेबल्स ने भी इसी तरह से 30 लाख डॉलर की राशि जुटाई थी। इस कंपनी ने कोविड-19 को ट्रैक करनेवाले ट्रैकर का निर्माण किया था। इसी तरह वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म मित्रों ने भी जुलाई की शुरुआत में पैसे जुटाया था। जबकि शेयर चैट ने हाल में 4 करोड़ डॉलर की फंडिंग जुटाई थी। यह सब तब हुआ जब चीनी ऐप्स पर पाबंदी लगाई गई थी।ब्लाक चैन स्टार्टअप चिटमोंक्स ने भी यूनिकॉर्न इंडिया वेंचर्स से पैसे जुटाने में सफल रही।

From around the web