प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन 1 अगस्त से स्टेडियम खोलना चाहते थे, लेकिन कोरोना के कारण फैसला 2 हफ्ते तक टाला

 

इंग्लैंड के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने सभी खेल टूर्नामेंट्स के लिए स्टेडियम में दर्शकों की एंट्री को दो हफ्ते के लिए टाल दी है। देश में लगातार बढ़ रहे कोरोनावायरस के मामलों के कारण यह फैसला लिया है। इससे पहले जॉनसन ने 1 अगस्त से फैंस के लिए स्टेडियम खोलने का प्लान बनाया था।

इसके ट्रायल के तौर पर लंदन के द ओवल स्टेडियम में सरे और मिडलसेक्स क्रिकेट क्लब के बीच फ्रैंडली मैच कराया था। इसमें 25 हजार की क्षमता वाले स्टेडियम में एक हजार फैंस को एंट्री दी थी। इसके बाद शुक्रवार को शेफील्ड में वर्ल्ड स्नूकर चैम्पिनशिप और फिर शनिवार को ग्लोरियस गुडवुड होर्स रेसिंग फेस्टिवल होना है। इसमें भी दर्शकों को एंट्री देने का प्लान बनाया था। जो अब टल गया है।

कोरोना की चेन तोड़ना ज्यादा जरूरी
जॉनसन ने स्कॉय स्पोर्ट्स से कहा, ‘‘उन नंबर (कोरोना संक्रमण के मामले) के बढ़ने के साथ हमने पहले इस चेन को तोड़ने का फैसला किया है, ताकि वायरस को कंट्रोल किया जा सके। आपको याद होगा कि हमने शनिवार 1 अगस्त से कई हाई रिस्क वाली चीजों को खोलने का फैसला किया था, जो काफी समय से बंद थे। आज मैं कह रहा हूं कि हमने उन फैसलों को कम से कम दो हफ्तों को लिए टाल दिया है।’’

शादी में 30 लोगों को मंजूरी रहेगी
उन्होंने कहा, ‘‘इसका मतलब है कि 15 अगस्त तक क्लोज कॉन्टैक्ट गेम्स बंद रहेंगे। इंडोर परफोर्मेंस भी नहीं खुलेंगे। स्पोर्ट्स वेन्यू और कॉन्फ्रेंस वाली जगह पर भी लोग इकट्ठा नहीं हो सकेंगे। शादी समारोह में भी 30 ज्यादा लोगों को मंजूरी नहीं मिलेगी।’’

इंग्लैंड-आयरलैंड के बीच वनडे सीरीज भी खाली स्टेडियम में खेली जा रही
दरअसल, कोरोना के बीच 117 दिन बाद इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी भी इंग्लैंड से ही हुई थी। यहां 8 जुलाई से खेली गई 3 टेस्ट की सीरीज में इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज को 2-1 से हराया। यह सीरीज बगैर दर्शकों के खेली गई थी। इसके बाद 30 जुलाई से इंग्लैंड और आयरलैंड के बीच 3 वनडे की सीरीज भी खाली स्टेडियम में खेली जा रही है।

From around the web