पूर्व कप्तान भूटिया ने कहा- हमें क्वालिटी प्लेयर तैयार करने की जरूरत, इसके लिए जमीनी स्तर पर काम करना होगा

 

भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया ने कहा कि हमें अभी क्वालिटी प्लेयर की काफी जरूरत है। टीम को एशियाई और वर्ल्ड लेवल पर मजबूत बनाने के लिए जमीनी स्तर पर काम करने की जरूरत है। भूटिया ने कहा कि इसके लिए अंडर-17, 19 और 21 के इंटरनेशनल टूर्नामेंट कराना जरूरी है।

भूटिया ने ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (एआईएफएफ) के साथ इंस्टाग्राम पर लाइव चैटिंग की। इस दौरान उन्होंने कहा, ‘‘हमें क्वालिटी प्लेयर तैयार करने की बेहद जरूरत है। इसका मतलब यह नहीं है कि हमारे पास अभी अच्छे खिलाड़ी नहीं हैं। मेरा मतलब है कि एशिया और वर्ल्ड लेवल पर मैच जीतने के लिए हमें जमीनी स्तर से बड़े और दिग्गज खिलाड़ी तैयार करने होंगे।’’

अंडर-17 पुरुष वर्ल्ड कप एक बेहतर शुरुआत
भारत को 2017 में अंडर-17 पुरुष वर्ल्ड कप की मेजबानी मिल चुकी है। इसको लेकर भूटिया ने कहा, ‘‘अंडर-17 वर्ल्ड कप की मेजबानी हमारे लिए बेहतर शुरुआत थी। इस उम्र के प्लेयर के लिए ऐसे टूर्नामेंट खेलना बेहद जरूरी है। उनके लिए अच्छी ट्रेनिंग और कोच होना चाहिए। इन्हीं चीजों से काफी मदद करेंगी। हमें अंडर-17 और अंडर-15 एशिया कप के लिए भी लगातार क्वालिफाई करते रहना चाहिए।’’

अगले साल भारत में होगा अंडर-17 महिला फुटबॉल वर्ल्ड कप
अंडर-17 महिला फुटबॉल वर्ल्ड कप का 7वां सीजन भारत में अगले साल 17 फरवरी से 7 मार्च के बीच होने वाला है। इसको लेकर भूटिया ने कहा, ‘‘अंडर-17 वर्ल्ड कप सरकार और एआईएफएफ का अच्छा फैसला है। हमारे अंडर-17, 19 और 21 के टूर्नामेंट कराना जरूरी है, ताकि जमीनी स्तर पर ज्यादा फोकस हो सके।’’ वहीं, भूटिया ने माना कि जूनियर स्तर पर पुरुष टीम महिलाओं के मुकाबले काफी कमजोर है।

अक्टूबर में 2022 वर्ल्ड कप के लिए क्वालिफाइंग मैच खेलना है
हाल ही में एआईएफएफ के महासचिव कुशल दास ने कहा था कि वर्ल्ड कप 2022 क्वालिफायर से पहले सितंबर में भारतीय टीम का कैम्प भुवनेश्वर में लगाने की तैयारी कर रहा है। फिलहाल राज्य सरकार के जवाब का इंतजार कर है। भारत को इसी साल अक्टूबर में कतर के खिलाफ 2022 वर्ल्ड कप क्वालिफाइंग राउंड का मैच खेलना है। इसके बाद भारत 12 नवंबर को बांग्लादेश और 17 नवंबर को कोलकाता में अफगानिस्तान के खिलाफ मैच खेलेगा।

From around the web