नाव की हालत पहले से ही जर्जर थी, नदी में कुछ दूर जाने पर ही पानी भरने लगा; 

नाव की हालत पहले से ही जर्जर थी, नदी में कुछ दूर जाने पर ही पानी भरने लगा; जान बचाने के लिए हाथ-पैर मारते रहे लोग.

 
  • शुरुआती जांच में सामने आया कि नाव की हालत पहले से खराब थी, जिसमें क्षमता से ज्यादा यात्रियों को बैठाया गया था

जिले के इटावा के पास बुधवार सुबह खातोली क्षेत्र में चंबल नदी पार करते हुए नाव डूब गई। नाव में करीब 30 लोग सवार बताए जा रहे हैं। इसमें से 7 के शव मिल गए हैं, जबकि करीब 8 लोग लापता हैं। नाव में 14 बाइक भी नदी पार करवाने के लिए रखीं गई थीं। शुरुआती जांच में सामने आया कि नाव की हाल पहले से खराब थी। जिसमें क्षमता से ज्यादा यात्रियों को बैठाया गया था। साथ ही नदी पार करवाने के लिए नाव के साथ बाइकें भी बांध दी गई थीं। जिसके कारण नाव वजन नहीं सह सकी और डूब गई। कुछ दूर जाने पर ही पानी भरने लगा। पानी में डूबे लोग जान बचाने के लिए हाथ पैर मारते रहे।

मुख्यमंत्री गहलोत ने ट्वीट कर लिखा कि कोटा में थाना खातोली क्षेत्र में चम्बल ढिबरी के पास नाव पलट जाने की घटना बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है। हादसे का शिकार हुए लोगों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं। कोटा प्रशासन से बात कर घटना की जानकारी ली है। तत्परता से राहत एवं बचाव के साथ ही लापता लोगों को शीघ्र ढूंढने के निर्देश दिए हैं। स्थानीय पुलिस एवं प्रशासन घटनास्थल पर मौजूद है। प्रभावित परिवारों को मुख्यमंत्री सहायता कोष से मदद के लिए निर्देश दिए हैं।

पानी भरने के कारण नदी एक तरफ से पानी में डूबने लगी।

पानी भरने के कारण नदी एक तरफ से पानी में डूबने लगी।

सभी नाव सवार लोग पानी में डूबने लगे।

सभी नाव सवार लोग पानी में डूबने लगे।

मुकदमा दर्ज कर जांच करवाई जाएगी

मौके पर पहुंचे कोटा जिला कलेक्टर उज्जवल राठौड़ ने बताया कि घटना के बाद गांव वाले सबसे पहले मौके पर पहुंचे। उन्होंने काफी लोगों की जान बचाई। कुल 14 लोग लापता बताए जा रहे हैं। जिसमें से कुछ शव मिल गए हैं। इस घटना में मुकदमा दर्ज कर जांच करवाई जाएगी। पहले नांव को सीज कर दिया गया ता। इसके बावजूद लोग ट्यूब के जरिए बाइक ले जाते हैं। मृतक अलग-अलग शहर के हैं। जो मंदिर दर्शन करने गए थे।

डूबते हुए लोगों को बचाने दूसरी नाव नदी में पहुंची।

डूबते हुए लोगों को बचाने दूसरी नाव नदी में पहुंची।

नदी की गहराई 40 से 50 फीट

कोटा ग्रामीण एसपी शरद चौधरी ने बताया कि कई लोगों का शव निकाला जा चुका है। कुछ का निकाला जा रहा है। रेस्क्यू जारी है। नाव की जांच होगी, क्यों चल रही थी। चंबल के इस पार कोटा जिले का खातोली थाना है। चंबल के उस पार बूंदी जिले का इंदरगढ़ थाना है। दोनों तरफ प्रशासन मौजूद है। एसडीआरएफ भी दोनों जगह ही मौजूद है। नदी की गहराई 40 से 50 फीट बताई जा रही है। जिसके लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की मदद से भी रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है।।

घटना की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंचे।

घटना की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में ग्रामीण मौके पर पहुंचे।

ग्रामीणों द्वारा महिला की लाश को बाहर निकाला गया।

ग्रामीणों द्वारा महिला की लाश को बाहर निकाला गया।

कई लोगों की लाशें चंबल से बाहर निकाली गईं।

कई लोगों की लाशें चंबल से बाहर निकाली गईं।

मृतकों में महिला और पुरुष शामिल।

मृतकों में महिला और पुरुष शामिल।

चंबल में चलाया जा रहा रेस्क्यू ऑपरेशन।

चंबल में चलाया जा रहा रेस्क्यू ऑपरेशन।

हादसे का शिकार हुई नाव।

हादसे का शिकार हुई नाव।

पुलिस अधिकारी और प्रशासन मौके पर पहुंचा।

पुलिस अधिकारी और प्रशासन मौके पर पहुंचा।

मृतक के परिजनों में छाया मातम।

मृतक के परिजनों में छाया मातम।

From around the web