पत्नी को जिंदा जलाने वाला पति 20 साल बाद पकड़ा गया, नाम बदलकर दूसरी शादी भी कर ली थी, आरोपी अब 64 साल का हो चुका

 
  • वडोदरा सेंट्रल जेल से वर्ष 2000 में जमानत मिलने के बाद फरार हो गया था आरोपी
  • पुलिस को मिली सूचना के आधार पर सूरत के पास शेरपुरा गांव से किया गया अरेस्ट

साल 1992 में भरूच में पत्नी को जिंदा जलाकर मार देने का आरोपी साल 2000 में जमानत पर रिहा होने के बाद फरार हो गया था। जिसे अब करीब 20 सालों बाद पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। वडोदरा की फर्लो स्क्वॉड ने सूरत के पास शेरपुरा गांव से आरोपी महेंद्र तडवी (64) को अरेस्ट किया है। तडवी अपनी पहचान छिपाकर गांव में 20 सालों से रह रहा था। उसने दूसरी शादी भी कर ली थी।

45 दिन की जमानत के बाद हो गया था फरार
वडज गांव का रहने वाले महेंद्र तडवी ने भरूच में अपनी पत्नी की जिंदा जलाकर हत्या कर दी थी। उसे पत्नी के चरित्र पर संदेह था। मामले में 1993 को कोर्ट ने उसे आजीवन कैद की सजा सुनाई थी। तडवी 7 सालों तक वडोदरा की जेल में रहा। इसी दौरान साल 2000 में 45 दिन की जमानत पर जेल से बाहर निकला और बाहर आते ही फरार हो गया था।

गांव के लोग भी तडवी की असली पहचान से वाकिफ नहीं थे
तडवी शेरपुरा गांव में डाह्या भोगीलाल घोडिया नाम से रह रहा था। गांव की ही महिला से उसने दूसरी शादी भी कर ली थी। जब पुलिस तडवी को अरेस्ट करने गांव पहुंची तो पता चला कि गांव में किसी को भी उसकी असली पहचान पता नहीं थी। यहां तक की उसकी दूसरी पत्नी को भी उसके बारे में नहीं पता था।

From around the web