लो फ्लेक्सी फेयर से पहली बार चली तेजस, फिर भी 381 यात्री ही मिले, अब फ्लेक्सी फेयर हाई.

 
  • चेयर कार का किराया 1000 से घटा 720, एग्जिक्यूटिव भी 500 घटाया था

कोरोना महामारी के कारण 22 मार्च से बंद आईआरसीटीसी की निजी तेजस आखिरकार 17 अक्टूबर से फिर से ट्रैक पर दौड़ी। लॉकडाउन से पहले शुरू हुई तेजस के पहले रन में यात्री ज्यादा मिलने की वजह आईआरसीटीसी ने तेजस का किराया में 9 अक्टूबर से शुरू हुई बुकिंग में चेयर कार एयर एग्जिक्यूटिव व चेयर कार दोनों श्रेणी में लो फ्लेक्सी फेयर के साथ किराए में कमी कर दी और किराया शताब्दी एक्सप्रेस के बराबर रखा, बावजूद इसके अहमदाबाद से मुंबई सेंट्रल से अहमदाबाद के लिए यात्री उम्मीद के मुताबिक नहीं मिल सके।

मध्य के स्टेशनों पर सूरत और वडोदरा जैसे बड़े शहरों से भी यात्री ज्यादा नहीं मिल सके। अप-डाउन ट्रिप में तेजस को 250-250 यात्री भी नहीं मिल सके, जबकि चेयर कार के कुल 10 कोच में 780 सीट और एग्जीक्यूटिव के दो कोच में कुल 112 सीट थे। यह किराया पहले की अपेक्षा 400-400 रुपए तक कम की गई थी यानि तेजस का किराया शताब्दी एक्सप्रेस के बराबर थी।

कोरोना काल और लॉकडाउन के बाद अनलॉक 5 में शुरू हुई निजी तेजस के किराए में कमी करके इस ट्रेन की ऑक्युपेंसी बढ़ाने की कोशिश थी ताकि ज्यादा से ज्यादा यात्री इस ट्रेन को मिल सके। लेकिन, पहले ट्रिप में यात्रियों की कमी से अब आईआरसीटीसी ने अगले तमाम ट्रिप के लिए फ्लेक्सी रेट फिर से हाई कर दिया है।

ज्यादा यात्री मिले इसके लिए 9 अक्टूबर से शुरू बुकिंग में तेजस का किराया लो फ्लेक्सी फेयर के साथ शताब्दी के बराबर रखा लेकिन अब आगामी ट्रिप को फ्लेक्सी फेयर फिर से हाई

कोरोना महामारी से पूर्व जब तेजस चलाई जा रही थी तो सूरत से अहमदाबाद और मुंबई जाने के लिए इस ट्रेन के चेयर कार श्रेणी का किराया 1000 रुपए, जबकि एग्जीक्यूटिव श्रेणी का किराया 1800 से 2000 के बीच था।

लेकिन, 9 अक्टूबर से शुरू हुई बुकिंग से तेजस ट्रेन में सूरत से अहमदाबाद के बीच चेयर कार का किराया 720 और एग्जीक्यूटिव का किराया 1497 रुपए था, जबकि सूरत से मुंबई जाने के लिए चेयर कार का 772 और एग्जीक्यूटिव का किराया 1628 रुपए था।

हालांकि आईआरसीटीसी ने बताया कि इसमें डायनेमिक फ्लेक्सी फेयर सिस्टम लागू है इसलिए आने वाले दिनों में अगर और ज्यादा तेजस ट्रेन की डिमांड हुई तो किराया मामूली अंतर के साथ बढ़ भी सकता है।

मजबूरी: पहली ट्रिप पूरे होते ही हाई हो गया फ्लेक्सी फेयर

तेजस की पहली ट्रिप 17 अक्टूबर को जैसे ही पूरी हुई उसके अगले दिन यानि 18 अक्टूबर से तमाम ट्रिप का फ्लेक्सी रेट हाई कर दिया गया। 18 अक्टूबर यानि आज की तेजस का सूरत से मुंबई का किराया चेयर कार के लिए 1004 जबकि एग्जीक्यूटिव के लिए 1628 रुपए हो गया।

वजह: फ्लाइट से सफर करने वालों के बीच मांग ज्यादा

सूरत से मुंबई के बीच अब स्पाइस जेट की केवल एक मात्र उड़ान का फ्लेक्सी फेयर आसमान छूने लगा है। 17 अक्टूबर को स्पाइस जेट की सुबह 7:50 की सूरत-मुंबई फ्लाइट का किराया 5500 रुपए है। यात्रियों को एयरपोर्ट पर लगभग एक घंटे पहले पहुंच कर चेक इन समेत तमाम प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ेगा।

प्रोटोकॉल: कोरोना से बचाव के लिए सिटिंग ऐरेंजमेंट में बदलाव करना पड़ा

चल रही महामारी के कारण प्रत्येक वैकल्पिक सीट को प्रारंभिक अवधि के लिए सोशल डिस्टेंसिंग मानदंडों के तहत खाली रखा गया है। यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए एक मानक ऑपरेशन प्रक्रिया जारी की गई है। यात्रियों को एक बार बैठने के बाद अपनी सीटों का आदान-प्रदान करने की अनुमति नहीं थी।

यात्रियों और कर्मचारियों के लिए फेस कवर मास्क का उपयोग अनिवार्य रहा। सभी यात्रियों को एक कोविड-19 सुरक्षा किट प्रदान की गई, जिसमें हैंड सैनिटाइजर, एक मास्क, एक फेस शील्ड और एक जोड़ी दस्ताने शामिल था।

टाइमिंग: सही समय से चली तेजस, सूरत सुबह 9:35 तथा मुंबई 13:10 पर पहुंची

अहमदाबाद मुंबई तेजस के समय सारिणी में बदलाव नहीं हुआ है। 17 अक्टूबर को यह ट्रेन अहमदाबाद से सुबह 6:40 को रवाना हुई और नाडीयाड, वडोदरा, भरूच होते हुए सुबह 9:35 को सूरत पहुंची और और दोपहर 1:10 को मुंबई सेंट्रल पहुंची और वापसी में यह मुंबई सेंट्रल से दोपहर 3:35 को रवाना होकर शाम 6:45 बजे सूरत और रात 9:55 को अहमदाबाद पहुंची।

From around the web