रिया चक्रवर्ती ने 5 बार पूजा-पाठ के नाम पर निकाले थे पैसे, परिवार का दावा- पैसे का इस्तेमाल सुशांत पर जादू-टोने किए

 

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में उनकी गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। कोटक महिंद्रा बैंक से अभिनेता के खाते की डिटेल सामने आई है, जिसके अनुसार 5 बार पूजा-पाठ के लिए करीब 3 लाख रुपए का पेमेंट किया गया है। पंडित को भी पैसा ट्रांसफर किया गया है। सुशांत के परिवार का आरोप है कि रिया ने इस पैसे का इस्तेमाल अभिनेता पर जादू-टोना करने के लिए किया।

कोटक महिंद्रा बैंक से सुशांत के खाते के जो पेपर आए हैं, उनमें 2019 में 14 और 22 जुलाई, इसके बाद 2, 8 और 15 अगस्त को सुशांत के कार्ड से पूजा-पाठ सामग्री के लिए पैसे का भुगतान हुआ। 15 अगस्त के बाद कोई पैसा इस तरह के काम के लिए नहीं निकाला गया। रिपोर्ट में तारीख-दर-तारीख पांचों बार की रकम की जानकारी भी साझा की गई है, जो इस प्रकार है:-

तारीखनिकाली गई रकम14 जुलाई 201945 हजार रुपए (पूजा सामग्री के लिए)22 जुलाई 201955 हजार रुपए (पूजा सामग्री के लिए)
36 हजार रुपए (पूजा सामग्री के लिए)2 अगस्त 201986 हजार रुपए (पूजा सामग्री के लिए)8 अगस्त 201911 हजार रुपए (पंडित की दक्षिणा)15 अगस्त 201960 हजार रुपए (पूजा सामग्री के लिए)

90 दिनों में 3.24 करोड़ रुपए का ट्रांजेक्शन

14 अक्टूबर 2019 सुशांत के बैंक खाते में 4.64 करोड़ रुपए का बैलेंस था, जो महज 90 दिनों में घटकर 1.4 करोड़ रुपए बचा था। जो पैसा सुशांत के खाते से निकला या ट्रांसफर हुआ, उसका ज्यादातर इस्तेमाल रिया चक्रवर्ती और उनके परिजनों के लिए हुआ। कुछ खर्चों की डिटेल इस प्रकार है:-

  • 14 अक्टूबर 2019 को बैलेंस 4.64 करोड़ रुपए।
  • 14 अक्टूबर को रिया के भाई शोविक के अकाउंट में 81,901 रुपए ट्रांसफर हुए।
  • 15 अक्टूबर को 4.7 लाख रुपए रिया के भाई शोविक के होटल खर्च के लिए भेजे गए।
  • 15 अक्टूबर 2019 को 4.3 लाख रुपए दिल्ली के होटल ताज में रहने के लिए भेजे गए।
  • 16 अक्टूबर 2019 को रिया और शोविक के दिल्ली के हवाई टिकट के लिए 76 हजार रुपए भेजे गए।
  • इसके अगले कुछ दिन तक अलग-अलग अमाउंट के जरिए लाखों रुपए का ट्रांजेक्शन हुआ।
  • 14 नवंबर 2019 को रिया के नाम पर डेढ़ लाख रुपए का ट्रांजेक्शन हुआ।
  • 20 और 21 नवंबर 2019 को रिया के मेकअप और शॉपिंग पर 75 हजार रुपए खर्च हुए।
  • 24 नवंबर 2019 को रिया की शॉपिंग पर 22,220 रुपए खर्च हुए।
  • 25 नवंबर को इसी खाते से रिया के भाई की ट्यूशन फीस दी गई।

सुशांत के खाते से कई ट्रांजेक्शन हुए, जो रिया और उनके फैमिली मेंबर्स के नाम पर थे। एक बड़ा अमाउंट कैश के रूप में भी निकाला गया था, लेकिन इसकी वजह पता नहीं चल सकी। रकम का एक बड़ा हिस्सा सुशांत के निजी खर्चों और टैक्स पेमेंट के रूप में हुआ था। 1.5 करोड़ रुपए से ज्यादा का भुगतान उन्होंने जीएसटी के रूप में किया था।

परिवार की मांग- फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन की जांच हो

सुशांत की फैमिली का दावा है कि अभिनेता के खाते से 15 करोड़ रुपए का लेनदेन रिया और उनके करीबियों के लिए हुआ। उनके वकील विकास सिंह ने एक बातचीत में कहा, ‘‘पुलिस को सुशांत के फाइनेंशियल ट्रांजेक्शन की जांच करनी चाहिए। सुशांत पूरी तरह रिया के कंट्रोल में थे। उनके क्रेडिट कार्ड भी रिया ही इस्तेमाल करती थीं।’’ हालांकि, रिया का कहना है कि वे और सुशांत लिव-इन में थे। उन पर लगाए जाए रहे सभी आरोप बेबुनियाद हैं।

सुशांत के सीए का दावा- अभिनेता के अकाउंट में 15 करोड़ रुपए नहीं थे

पिछले दिनों सुशांत के सीए रहे संदीप श्रीधर ने उनके परिवार के आरोपों को नकारा था। श्रीधर ने कहा था, ‘‘सुशांत आम लोगों की तरह शॉपिंग, किराया और दूसरी चीजों जैसे कि साथ-साथ यात्रा पर पैसे खर्च करते थे। उनकी इनकम इतनी नहीं थी, जितनी का दावा किया जा रहा है। पिछले एक साल से उनकी कमाई कम हो गई थी।" हालांकि, रिपोर्ट्स की मानें तो सालभर पहले संदीप श्रीधर को रिया के भाई ने ही सुशांत के यहां अपॉइन्ट कराया था।

ईडी ने केस दर्ज कर जांच शुरू की

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने 31 जुलाई को रिया चक्रवर्ती के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज कर लिया है। रिपोर्ट्स की मानें तो अगले हफ्ते उन्हें समन भेजा जाएगा। रिया से संदिग्ध लेनदेन के बारे में पूछताछ की जाएगी। इसके साथ ही उनके खर्चों, फर्म्स और बैंक खातों की जांच भी की जाएगी।

क्या है सुशांत के पिता का आरोप?

25 जुलाई को पटना के राजीव नगर पुलिस स्टेशन में सुशांत के पिता केके सिंह ने रिया के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। इसमें उन्होंने कई आरोप लगाए। इनमें से एक में उन्होंने दावा किया है कि सुशांत के खाते में 17 करोड़ रुपए थे और पिछले एक साल में इसमें से 15 करोड़ रुपए निकाले गए। जिन जगहों पर यह पैसे ट्रांसफर हुए, उनका उनके बेटे से कोई लेना-देना नहीं था। सिंह ने सभी खातों की जांच की मांग की है।

From around the web