श्रीदेवी के निधन के बाद फूट-फूटकर रोए थे अमर सिंह, कहा था- मेरी और बोनी की गलती अभिशाप बन गई.

 

राज्यसभा सांसद अमर सिंह का निधन हो गया है। 64 साल की उम्र में उन्होंने सिंगापुर में अंतिम सांस ली। अमर सिंह उन पॉलिटिशियंस में से थे, जिनकी कई बॉलीवुड सेलेब्स से गहरी दोस्ती रही है। फिल्ममेकर बोनी कपूर और श्रीदेवी के साथ भी उनके काफी अच्छे ताल्लुकात थे। वे उनके इतने करीब थे कि जब श्रीदेवी का निधन हुआ तो फूट-फूटकर रो पड़े थे। इतना ही नहीं उन्होंने इसके लिए बोनी और खुद को जिम्मेदार ठहराया था।

अमर सिंह ने कहा था- हमारी गलती अभिशाप बन गई

24 फरवरी 2018 को दुबई के एक होटल के बाथटब में दुर्घटनावश डूबने से श्रीदेवी की मौत हो गई थी। इसके बाद एक बातचीत में अमर सिंह ने कहा था कि इस दुर्घटना से कुछ समय पहले तक वे श्रीदेवी और बोनी कपूर के साथ ही थे। क्योंकि वे भी बोनी कपूर के भांजे मोहित मारवाह की शादी में शामिल होने दुबई गए थे। हालांकि, उन्हें उत्तर प्रदेश में हुई एक समित में हिस्सा लेना था। इसलिए वे और बोनी शादी अटेंड करने के बाद दुबई से भारत आ गए थे और श्रीदेवी वहां अकेली रह गई थीं।

अमर सिंह ने कहा था, "यही गलती हमारे लिए अभिशाप बन गई। अगर हम वहां दुबई में मौजूद होते तो इस दुर्घटना को टाला जा सकता था। यह हमारी गलती थी कि हमने उन्हें वहां अकेली छोड़ दिया था।"

बोनी ने पहला फोन अमर सिंह को किया था?

अमर सिंह ने एक टीवी इंटरव्यू में यह दावा भी किया था कि बोनी कपूर ने श्रीदेवी के निधन की जानकारी सबसे पहले उन्हें ही दी थी। उन्होंने कहा था, "घटना वाली रात बोनी ने मुझे फोन किया और बताया कि भाभी नहीं रहीं। शायद उन्होंने सबसे पहला फोन मुझे ही किया था। रिपोर्ट में यह दावा भी किया गया था कि बोनी ने आधी रात को सबसे पहले अमर सिंह के मोबाइल पर कॉल किया था। लेकिन वह साइलेंट था। इसलिए बात नहीं हो सकी। फिर बोनी ने उनके लैंडलाइन पर फोन किया और श्रीदेवी के निधन की जानकारी दी थी।

अमर सिंह की बात नहीं टालती थीं श्रीदेवी?

अमर सिंह ने यह भी कहा था कि श्रीदेवी से उनकी इतनी घनिष्ठता थी कि वे बोनी कपूर की बात टाल सकती थीं, लेकिन उनकी बात कभी नहीं टालती थीं। उनके मुताबिक, एक बार श्रीदेवी इस बात पर अड़ गई थीं कि जब तक अमर सिंह उनकी फिल्म नहीं देख लेते, वे उसे रिलीज नहीं करेंगी। सिंह ने यह भी बताया था कि श्रीदेवी उनकी बेटी को बहुत मानती थीं। जब एक्ट्रेस का निधन हुआ तो उनकी बेटी भी खूब रोई थी।

From around the web